आईपीएल का 13वां सीजन शनिवार से शुरू होने जा रहा है। 4 बार की चैंपियन मुंबई इंडियंस को जीत का दावेदार माना जा रहा है, लेकिन यूएई में उसके रिकॉर्ड इसके उलट हैं। 2014 में भी लीग के शुरुआती 20 मुकाबले यूएई में ही खेले गए थे। मुंबई को सभी 5 मैच में हार मिली थी जबकि किंग्स इलेवन पंजाब ने सभी 5 मैच में जीत दर्ज की थी। पंजाब अपराजेय रहने वाली एकमात्र टीम थी।

टीमों की मजबूती और कमजोरी

चेन्नई को रैना-भज्जी की कमी खलेगी, राजस्थान टीम विदेशियों पर निर्भर

1. चेन्नई सुपरकिंग्स: रैना और हरभजन का हटना बड़ा झटका। धोनी, प्लेसिस, रायडू पर बल्लेबाजी निर्भर। ब्रावो और जडेजा मजबूत कड़ी। दीपक चाहर के अलावा अन्य तेज गेंदबाज परेशानी का सबब।

2. मुंबई इंडियंस: रोहित, डी कॉक, पोलार्ड पर बैटिंग की जिम्मेदारी। बुमराह और बोल्ट तेज गेंदबाजी की बागडोर संभालेंगे। मलिंगा के हटने से डेथ ओवर में असर पड़ेगा। राहुल चाहर के अलावा अच्छे स्पिनर की कमी।

3. कोलकाता नाइटराइडर्स: बतौर विदेशी नरेन, रसेेेल, कमिंस का खेलना पक्का। शुभमन, कार्तिक और नीतीश पर बल्लेबाजी का दारोमदार। तेज गेंदबाज नागरकोटी और मावी का प्रदर्शन ही टर्निंग पॉइंट।.

4. राजस्थान रॉयल्स: टीम विदेशी खिलाड़ियों पर अधिक निर्भर। संजू सैमसन और राॅबिन उथप्पा को छोड़कर कोई अनुभवी भारतीय बल्लेबाज नहीं। आर्चर को छोड़कर अच्छे तेज गेंदबाज की कमी।

5. राॅयल चैलेंजर्स बेंगलुरू:‌ कोहली, डिविलियर्स, फिंच पर बल्लेबाजी निर्भर। स्पिनर्स के तौर पर चहल, जंपा और सुंदर की तिकड़ी। भारतीय तेज गेंदबाज सिराज, नवदीप सैनी और उमेश यादव का प्रदर्शन खास नहीं।

6. किंग्स इलेवन पंजाब: मुजीब, मुरूगन अश्विन, बिश्नोई जैसेे अच्छे स्पिनर। राहुल के पास कप्तानी का अनुभव नहीं। गेल, मैक्सवेल पर बल्लेबाजी निर्भर। बतौर तेज गेंदबाज शमी, काॅट्रेल और जॉर्डन। 7. सनराइजर्स हैदराबाद: ओपनर वॉर्नर, बेयरस्टो पर निर्भर। मनीष पांडे के अलावा मिडिल ऑर्डर में कोई अनुभवी भारतीय नहीं। बतौर स्पिनर राशिद, नबी, नदीम। भुवी, सिद्धार्थ पिछले सीजन में अच्छा नहीं कर सके थे।

8. दिल्ली कैपिटल्स: श्रेयस, पृथ्वी शॉ, धवन, और हेेटमायर जैसे बल्लेबाज। बतौर ऑलराउंडर स्टोइनिस, अक्षर। अश्विन, अमित मिश्रा, संदीप लमिछाने स्पिन विभाग देखेंगे। भारतीय तेज गेंदबाजी कमजोर कड़ी।

स्पिनर सबसे अहम, पिछले 3 सीजन में इनकी इकोनॉमी सबसे बेहतर रही

तीन सीजन को देखें तो स्पिनरों की इकोनॉमी सबसे अच्छी रही। 2019 में 10 से अधिक मैच खेलने वाले खिलाड़ियों की 5 बेस्ट इकोनॉमी में चार स्पिनर रहे। लेग स्पिनर राशिद खान ने 6.28, बाएं हाथ के स्पिनर रवींद्र जडेजा ने 6.35, लेग स्पिनर राहुल चाहर ने 6.55, तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने 6.63, लेग स्पिनर इमरान ताहिर ने 6.69 की इकोनॉमी से रन दिए।

राशिद खान का इकोनॉमी रेट सबसे बेहतर

मैच में बड़ा स्कोर मुश्किल, इस बार बल्लेबाजों का 30+ स्कोर महत्वपूर्ण

यूएई में 150-160 के बीच का स्कोर अच्छा माना जाता है। ऐसे में टीम के बल्लेबाजों का बड़ा स्कोर नहीं बल्कि 30+ का स्कोर महत्वपूर्ण रहेगा। पिछले सीजन में ऐसा ही देखने को मिला था। मुंबई के सबसे ज्यादा 9 खिलाड़ियों ने 30+ का स्कोर बनाया था। टीम की ओर से 26 बार 30+ का स्कोर बना। चेन्नई, पंजाब, कोलकाता, राजस्थान, बेंगलुरू के 8-8 खिलाड़ियों ने 30+ स्कोर बनाया।

केकेआर के बल्लेबाजों ने सबसे ज्यादा 10 बार 30+ का स्कोर बनाया।

इन युवाओं पर रहेगी नजर, पहली बार मैदान पर उतरेंगे

यशस्वी जायसवाल (बल्लेबाज) राजस्थान, रितुराज गायकवाड़ (बल्लेबाज) चेन्नई, रवि बिश्नोई (लेग स्पिनर) पंजाब, शेल्डन कॉट्रेल (तेज गेंदबाज) पंजाब, अली खान (तेज गेंदबाज) कोलकाता, देवदत्त पड्‌डीकल (बल्लेबाज) बेंगलुरू, टॉम बेंटन (बल्लेबाज) कोलकाता।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा( बाएं) और महेंद्र सिंह धोनी। दोनों टीमों चौथी बार आईपीएल के ओपनिंग मैच में आमने-सामने होंगी। -फाइल


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2E9UIA2
Previous Post Next Post