आईपीएल-13 में शुक्रवार को दिल्ली कैपिटल्स (डीसी) और राजस्थान रॉयल्स के बीच शारजाह में मैच हुआ। दिल्ली ने यह मैच 46 रन से जीता। पहले बैटिंग करते हुए 184 रन बनाए। 185 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए राजस्थान 19.4 ओवर में 138 रन पर ऑलआउट हो गई। राजस्थान के यशस्वी जायसवाल ने 36 बॉल पर 34 रन बनाए।

यशस्वी पहली बार आईपीएल खेल रहे हैं। अब तक तीन मैचों में उन्होंने सिर्फ 40 रन बनाए हैं। यही वजह है कि कुछ लोग इस युवा बल्लेबाज पर सवालिया निशान लगा रहे हैं। लेकिन, पूर्व क्रिकेटर और अब कमेंटेटर आकाश चोपड़ा ने मुंबई के इस बल्लेबाज का बचाव किया।

आकाश ने क्या कहा

दिल्ली के खिलाफ शुक्रवार रात यशस्वी ने 36 गेंद पर 34 रन बनाए। हालांकि, उनकी टीम हार गई। बाद में आकाश ने ट्विटर पर लिखा- अंडर 19 खिलाड़ी का मजाक उड़ाने वाले पहले अपने आप से पूछें कि जब वह 19 साल के थे, तब वे क्या कर रहे थे? जिस खिलाड़ी का वो मजाक उड़ा रहे हैं, वो अंडर-19 वर्ल्ड कप में मैन ऑफ द टूर्नामेंट रहा। उसने मुंबई की ओर से लिस्ट ए क्रिकेट में डबल सेंचुरी बनाई।

यशस्वी की कमजोर शुरुआत

यशस्वी का दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ आईपीएल का यह तीसरा मैच था। अब तक खेले तीन मैच में 40 रन बनाए हैं। जायसवाल अपने शुरुआती दो मैचों में कुछ खास नहीं कर पाए थे। राजस्थान ने जायसवाल चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ पहली बार मौका दिया था। वहां वे 6 गेंद पर 6 रन ही बना सके थे। मुंबई के खिलाफ वे दूसरा मैच खेले। 2 गेंद खेलीं पर खाता तक नहीं खोल पाए। इसके बाद उनकी आलोचना होने लगी।

आसान नहीं रहा आईपीएल तक का सफर

जायसवाल का आईपीएल तक का सफर संघर्षपूर्ण रहा। क्रिकेट खेलने के लिए उन्होंने पानीपुरी बेचीं और टेंट में रहे। जायसवाल ने अंडर-19 वर्ल्ड कप में 400 से ज्यादा रन बनाए थे। उन्हें मैन ऑफ द टूर्नामेंट चुना गया था। मुंबई की ओर से विजय हजारे वनडे टूर्नामेंट में झारखंड के खिलाफ 154 बॉल पर 203 रन बनाए। लिस्ट ए के 13 मैचोंं में 70.81 की औसत से 779 रन बना चुके हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
आईपीएल में राजस्थान के यशस्वी जायसवाल ने दिल्ली के खिलाफ अपने तीसरे मैच में 36 बॉल पर 34 रन बनाए। पहले दो मैच में उन्होंने सिर्फ 6 रन बनाए थे। मुंबई के खिलाफ वे खाता खोले बिना डग आउट में लौट गए थे।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/33LGyPO
Previous Post Next Post