पिछले तीन हफ्ते से देश में कोरोनावायरस की रफ्तार थोड़ी थम सी गई है। नए मामलों और मौतों में कमी आई है। ज्यादातर राज्यों में ट्रांसमिशन भी कम हो रहा है। लेकिन, नीति आयोग ने चेतावनी देते हुए कहा कि सर्दियों में कोरोना की दूसरी लहर आ सकती है।

नीति आयोग के सदस्य और कोरोना से निपटने के लिए बने पैनल के प्रमुख वीके पॉल के मुताबिक, कोरोनावायरस की वैक्सीन आने के बाद उसे लोगों तक पहुंचाने के लिए पर्याप्त संसाधन हैं। पिछले तीन हफ्ते में देश में कोरोनावायरस के नए केस और इससे होने वाली मौतों में कमी आई है। अधिकतर राज्यों में ट्रांसमिशन भी कम हुआ है, लेकिन हमें सर्दियों के लिए तैयार रहना होगा।

कुछ राज्यों में बढ़ रहे हैं कोरोना के केस

नीति आयोग ने कहा- पांच राज्य केरल, कर्नाटक, राजस्थान, छत्तीसगढ़, पश्चिम बंगाल और कुछ केन्द्र शासित प्रदेशों में कोरोना के मामले अभी भी बढ़ रहे हैं। हम अभी भी बेहतर हालात में हैं। लेकिन, लंबा रास्ता तय करना है, क्योंकि सर्दियों में 90% लोग कोरोना की चपेट में आसानी से आ सकते हैं। सर्दी की शुरुआत होते ही यूरोप के देशों में वायरस के मामले बढ़ते दिखाई दे रहे हैं। हम इससे इनकार नहीं कर सकते कि सर्दियों में हमें भी इस स्थिति का सामना करना पड़ सकता है।

बचाव ही इकलौता रास्ता

  • कोरोना कंट्रोल पैनल के प्रमुख पॉल ने कहा कि सर्दी के साथ फेस्टिव सीजन भी आ रहे हैं, इस दौरान हमें सावधान रहना होगा।
  • सर्दी के मौसम और त्योहारों के कारण उत्तर भारत में प्रदूषण भी खूब बढ़ेगा। हमें उस लिहाज से भी चौकन्ना रहने की जरूरत है। आने वाले महीने चुनौतियों से भरे हैं, अगर हम सावधानी नहीं बरतेंगे तो मामले बढ़ सकते हैं।
  • नीति आयोग ने कहा कि इससे बचना हमारे हाथ में है। भारत में दूसरी लहर आएगी या नहीं, यह भी हमारे ऊपर निर्भर करता है।

वैक्सीन उपलब्ध कराने के लिए तैयारियां पूरी

  • वैक्सीन के लिए भारत में बड़ी संख्या में कोल्ड स्टोरेज हैं और जरूरत पड़ने पर इनकी संख्या बढ़ाई जा सकती है।
  • वैक्सीन उपलब्ध होने पर इसकी आपूर्ति करने और लोगों तक पहुंचाने के लिए पर्याप्त संसाधन हैं।
  • शनिवार को प्रधानमंत्री कार्यालय ने एक बयान में कहा कि NEGVAC ने राज्य सरकारों के साथ मिलकर वैक्सीन के स्टोरेज, वितरण और उसे लगाने का खाका तैयार किया है।

सर्दियों में कोरोनावायरस से कैसे बचें

सर्दियों में कोरोनावायरस से बचने के लिए कोई अलग गाइडलाइन अभी तक तो नहीं जारी की गई है। इसलिए, आयुष मंत्रालय और स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी की गई गाइडलाइन को ही हमें नियमित फॉलो करना होगा।

आयुष मंत्रालय की गाइडलाइन के मुताबिक, कोरोना से बचाव के लिए गर्म पानी पीना जरूरी है। सर्दियों में गर्म पानी के नियम को और गंभीरता से फॉलो करना होगा। योग और प्राणायाम पर मंत्रालय ने साफ कहा है कि यह हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूत करता है, जो कोरोना के खिलाफ सबसे बड़ा हथियार है।

इसके अलावा दिन में 1 या 2 बार हर्बल चाय पीने, तुलसी, दालचीनी, कालीमिर्च, सूखी अदरक और किशमिश का काढ़ा लेने पर भी आयुष मंत्रालय शुरू से ही जोर दे रहा है, जो हमारी रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा देता है।

स्वास्थ्य मंत्रालय की गाइडलाइन बहुत स्पष्ट हैं। शुरू से ही स्वास्थ्य मंत्रालय उन सभी सावधानियों को बरतने पर जोर दे रहा है, जिनसे कोरोनावायरस एक से दूसरे में ट्रांसमिट हो सकता है। मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग पर प्रधानमंत्री ने भी मंगलवार को दिए राष्ट्र के नाम संदेश में आगाह किया है।



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
Coronavirus Second Wave In India Alert Update | Niti Aayog; Know How to Protect Yourself & Others? 90 Percent People Can Be Infected In Winter


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2TceX3Z
https://ift.tt/2T9LBTU
Previous Post Next Post