भारतीय मर्चेंट शिप जग-आनंद बीते जून से चीन के जिंगटैंक बंदरगाह पर खड़ा हुआ है। जहाज में 23 क्रू मेंबर्स भी फंसे हैं और इनमें से कई की तबियत खराब है। जहाज में पर्याप्त दवाइयां भी नहीं हैं और खाने-पीने का सामान भी खत्म होने की कगार पर है। हाल ही में क्रू ने एक न्यूज एजेंसी से बात कर भारत सरकार से मदद की अपील की है।

बता दें जग आनंद मुंबई की कंपनी ग्रेट ईस्टर्न शिपिंग लिमिटेड का जहाज है और इसमें ऑस्ट्रेलिया का 1.70 लाख टन कोयला भरा है। बंदरगाह के अधिकारियों ने अब तक जहाज अनलोड करने की अनुमति नहीं दी है। एक क्रू मेंबर ने बताया कि हम मई में ऑस्ट्रेलिया से कोयला लेकर चले थे और 13 जून को जिंगटैंक पहुंच गए, लेकिन चीनी अधिकारी जहाज से माल उतारने की अनुमति नहीं दे रहे।

हम घर जाना चाहते हैं, लेकिन कोई सुनवाई ही नहीं हो रही। वहीं इस बारे में शिपिंग कंपनी के अधिकारियों का कहना है कि हम चीन के अधिकारियों से बात कर रहे हैं, लेकिन अब तक हल नहीं निकला है।



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
जग आनंद मुंबई की कंपनी ग्रेट ईस्टर्न शिपिंग लिमिटेड का जहाज है और इसमें ऑस्ट्रेलिया का 1.70 लाख टन कोयला भरा है।


from Dainik Bhaskar /international/news/jag-anand-23-crew-members-have-been-in-trouble-since-5-months-in-china-the-condition-of-many-worsens-medicine-and-food-are-also-on-the-verge-of-ending-127898111.html
https://ift.tt/2U8w4nW
Previous Post Next Post