सोमवार, 21 दिसंबर को अद्भुत खगोलीय घटना होने जा रही है। इस दिन गुरु और शनि ग्रह एकदम करीब आ जाएंगे। इन दोनों के बीच बस 0.1 डिग्री की दूरी रहेगी। ये घटना ग्रेट कंजक्शन कहलाती है। 21 तारीख को साल की सबसे लंबी रात भी रहेगी।

भोपाल की विज्ञान प्रसारक सारिका घारू ने बताया कि वैसे तो हर 20 साल में गुरु और शनि करीब आते हैं, लेकिन इस बार इन ग्रहों के बीच की दूरी सिर्फ 0.1 डिग्री रहेगी। ऐसा करीब 400 सालों के बाद हो रहा है। इससे पहले 1623 में ये दोनों ग्रह इतने पास आए थे। इस साल के बाद 15 मार्च 2080 की रात गुरु-शनि इतनी पास दिखाई देंगे।

कैसे होता है ग्रेट कंजक्शन?

सौर मंडल का पांचवां ग्रह है गुरु (बृहस्पति) और शनि छठा ग्रह है। जूपिटर यानी गुरु ग्रह 11.86 साल में सूर्य की परिक्रमा करता है। शनि को करीब 29.5 साल सूर्य की परिक्रमा करने में लगते हैं। हर बार 19.6 साल में ये दोनों ग्रह करीब आते हैं, जिन्हें आकाश में आसानी से देखा जा सकता है। इस स्थिति को ही ग्रेट कंजक्शन कहा जाता है।

पिछला कंजक्शन 2000 में हुआ था। लेकिन, उस समय ये दोनों ग्रह सूर्य की ओर थे, इस वजह से दिखाई नहीं दिए थे। अगला कंजक्शन 5 नवंबर 2040 को, 10 अप्रैल 2060 को होगा। इसके बाद ग्रेट कंजक्शन 15 मार्च 2080 को दिखेगा।

कैसे पहचान सकते हैं इन दोनों ग्रहों को?

इन दिनों गुरु और शनि पश्चिम दिशा में दिखाई दे रहे हैं। सूर्य अस्त होने के बाद पश्चिम दिशा में दो ग्रहों की जोड़ी दिखाई दे रही है। इसमें ज्यादा चमकीला ग्रह जूपिटर है और कम चमकीला ग्रह सेटर्न है। ये दोनों ग्रह करीब 8 बजे अस्त हो जाते हैं यानी 8 बजे के बाद दिखाई नहीं देते हैं। इसीलिए इन्हें 8 बजे से पहले ही देखा जा सकता है। अब से 21 दिसंबर तक ये दोनों ग्रह रोज करीब आते दिखाई देंगे और 21 तारीख को गुरु-शनि एक साथ दिखेंगे।



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
great conjunction 2020, we can see Jupiter and Saturn in the sky, great conjunction 2020 on 21 december 2020


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2JIlF0c
https://ift.tt/2VzvFvl
Previous Post Next Post