हर साल 7 दिसंबर को दुनियाभर में इंटरनेशनल सिविल एविएशन डे यानी अंतरराष्ट्रीय नागरिक उड्डयन दिवस मनाया जाता है। इसे आधिकारिक रूप से सबसे पहली बार सन 1996 में मनाया गया था। अंतरराष्ट्रीय नागरिक उड्डयन दिवस संयुक्त राष्ट्र संघ की एक शाखा है। इसकी स्थापना शिकागो में 1944 ई. में किया गया था। जबकि 52 वर्ष बाद 7 दिसंबर, सन 1996 को संयुक्त राष्ट्र संघ ने आधिकारिक घोषणा कर मान्यता दी। इस साल से अंतरराष्ट्रीय नागरिक उड्डयन दिवस मनाया जाने लगा। भारत में नागरिक उड्डयन की शुरुआत 18 फरवरी, सन 1911 को हुई। जब हेनरी ने प्रयागराज से नैनी तक 6 मील का सफर तय किया। इसकी पहल महाराजा भूपिंदर सिंह ने की थी। उन्होंने अपने अभियंता को विमान खरीदने के लिए यूरोप भेजा था। इसका मुख्य उद्देश्य सामाजिक, आर्थिक विकास के लिए नागरिक उड्डयन के प्रति लोगों को जागरूक करना है। आंकड़ों कहते हैं कि दुनियाभर में 400 करोड़ से अधिक यात्री सालाना विमान से यात्रा करते हैं, साथ ही व्यापार क्षेत्र में भी विमानन सेवाओं का इस्तेमाल किया जाता है।

इस इंटरनेशनल सिविल एविएशन डे पर जानते हैं एविएशन इंडस्ट्री से जुड़ी कुछ ऐसी ही रोचक बातें:-

भारत में धीरे-धीरे जोर पकड़ रही हवाई सफर

चीन में सबसे बड़ा एयरपोर्ट और हवाई जहाज अमेरिका में

हैरान कर दें, हवाई सफर से जुड़े सच

वीआईपी विमान ऐसे कि चौक जाएं सभी



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
More than 3 lakh people fly in the country every day


from Dainik Bhaskar /national/news/international-civil-aviation-day-more-than-3-lakh-people-fly-in-the-country-every-day-127981913.html
https://ift.tt/3qBsSQu
Previous Post Next Post