सर्दियों ने दस्तक दे दी है। इस मौसम में आपने अपने फैमिली मेंबर को अक्सर जोड़ों के दर्द की शिकायत करते सुना होगा। इसकी समस्या अभी तक ज्यादातर बुजुर्गों में देखने को मिलती थी, लेकिन अब यह युवाओं में भी आम हो चुकी है।

रायपुर में डायटीशियन डॉक्टर निधि पांडे कहती हैं कि जोड़ों का दर्द ज्यादा भी हो सकता है और कम भी। इसके कई वजहें हो सकती हैं। जैसे-पहले लगी कोई चोट, गाठिया की शिकायत या मोटापे जैसी दूसरी बीमारियां। जोड़ों के दर्द को हम अर्थाल्जिया भी कहते हैं।

एक्सपर्ट के मुताबिक, जोड़ों में दर्द और गाठिया दो अलग-अलग समस्याएं हैं। इनके कई लक्षण एक जैसे हो सकते हैं, लेकिन एक अंतर दोनों में रहता है कि जोड़ों के दर्द में सूजन नहीं होती है और जो दर्द सूजन के साथ होता है, वह गाठिया की निशानी है।

पहले से लगी चोट बन सकती है बड़ी वजह

एक्सपर्ट की मानें तो जोड़ों के दर्द की मुख्य वजह पहले किसी तरह की समस्या या फ्रैक्चर हो सकते हैं। इसमें शरीर के कई हिस्सों के जोड़ में दर्द रहता है। इसके होने की कई वजह हैं।

कैसे करें उपचार

एक्सपर्ट कहते हैं कि हम चाहें तो घर पर रहकर और डॉक्टर की सलाह से जोड़ों के दर्द का इलाज कर सकते हैं। इसके लिए हमें अपनी लाइफस्टाइल मेंटेन करनी पड़ेगी।

खाने में इन बातों का रखें ध्यान

दवा और डॉक्टर की सलाह से तो जोड़ों के दर्द पर काबू पाया जा सकता है, लेकिन इस दौरान हमें एक बेहतर डाइट अपनानी चाहिए, जो फायदेमंद साबित हो। इस तरह हमें क्या खाना है, क्या नहीं खाना? इन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

जोड़ों के दर्द में क्या खाना है, इसका विशेष ध्यान रखें

जोड़ो के दर्द में हमें कुछ चुनिंदा फल-सब्जी का सेवन करना चाहिए। इससे इम्यून सिस्टम बूस्ट होता है। साथ खाने में गोंद का सेवन भी करना चाहिए और मेथी का पाउडर भी पानी में घोलकर पीना चाहिए।



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
Pain comes in joints as soon as winter comes, so keep these things in mind


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3qEsK2J
https://ift.tt/2VTXpLp
Previous Post Next Post