क्या हो रहा है वायरल: सोशल मीडिया पर एक फोटो वायरल हो रही है। फोटो में लिखा है, 'किसानों का समर्थन करने पर मोदी सरकार सिंगर दिलजीत दोसांझ को निशाना बना रही है। किसान आंदोलन के लिए 1 करोड़ रुपए दान करने पर दिलजीत के खिलाफ आयकर विभाग ने जांच शुरू की है।'

फोटो में नीचे लिखा है, अन्नदाताओं के साथ खड़े होने की कीमत यही है।

और सच क्या है?

  • इस पोस्ट की सच्चाई जाने के लिए हमने किसान आंदोलन और दिलजीत से जुड़ी मीडिया रिपोर्ट्स सर्च कीं।
  • रिपोर्ट के मुताबिक, दिसंबर के शुरुआती हफ्ते में दिलजीत दोसांझ सिंघु बॉर्डर पर गए थे और किसानों को सर्दी से बचाने के लिए 1 करोड़ रुपए दान किए थे।
  • पड़ताल के दौरान हमें ऐसी कोई खबर नहीं मिली, जिससे पुष्टि हो सके कि दिलजीत के खिलाफ आयकर विभाग ने जांच शुरू की है।
  • 3 जनवरी को दिलजीत ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर आयकर विभाग की ओर से जारी टैक्सपेयर सर्टिफिकेट शेयर किया।
  • सर्टिफिकेट में साफतौर पर लिखा है कि दिलजीत ने साल 2019-2020 के लिए टैक्स का भुगतान किया है
  • साफ है कि सोशल मीडिया पर किया जा रहा दावा आधा सच है। दिलजीत ने किसानों के लिए 1 करोड़ रुपए दान जरूर दिए हैं, लेकिन उनके खिलाफ आयकर विभाग ने कोई जांच शुरू नहीं की है।


आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
Income tax department starts investigation against 'Diljit Dosanjh', know the truth of this claim


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3bcLWiX
https://ift.tt/3pWHxof
Previous Post Next Post