क्या हो रहा है वायरल: सोशल मीडिया पर एक पोस्ट वायरल हो रही है। पोस्ट में एक फोटो है जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 'गुजरात फाइल्स' नाम की किताब पकड़े हुए हैं। कैप्शन में लिखा है, 'आखिरकार उन्होंने उस पुस्तक को पढ़ने का समय निकाला, जिसमें उन्होंने अभिनय किया था।'

और सच क्या है?

  • इस पोस्ट की सच्चाई जानने के लिए हमनें 'गुजरात फाइल्स' नाम की किताब को इंटरनेट पर सर्च किया।
  • सर्चिंग में सामने आया कि यह किताब 2002 में हुए गुजरात दंगों पर आधारित है। इसे भारतीय पत्रकार राणा अय्यूब ने लिखा है।
  • पड़ताल के दौरान हमने राणा अय्यूब का सोशल मीडिया अकाउंट चेक किया। उन्होंने अपने अकाउंट पर खुद इस फोटो को शेयर करते हुए लिखा था, 'मोदी जी को मिला नए साल का तोहफा'

  • पड़ताल के आखिरी चरण में हमने इस फोटो को गूगल पर रिवर्स सर्च किया। सर्च रिजल्ट में हमें यह फोटो नरेंद्र मोदी के सोशल मीडिया अकाउंट पर मिली।
  • पीएम मोदी ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर 26 दिसंबर, 2020 को यह फोटो शेयर किया था, लेकिन उनके हाथों में गुजरात दंगों पर आधारित किताब नहीं थी।
  • पड़ताल से साफ है कि सोशल मीडिया पर वायरल हो रही पोस्ट फेक है। पोस्ट में प्रधानमंत्री मोदी की फोटो पर बुक का कवर एडिट करके लगाया गया है।


आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
The book 'Gujarat Files' written above the Gujarat riots in the hands of Prime Minister Modi, photo thrown in the investigation


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3q7CNfH
https://ift.tt/3sc2uh5
Previous Post Next Post