क्या हो रहा वायरल: हाल ही में पाकिस्तान में खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के एक हिन्दू मंदिर में तोड़फोड़ की गई। इस मंदिर से जोड़कर एक पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल की जा रही है। पोस्ट में दावा किया जा रहा है कि इस्लामाबाद में मंदिर तोड़े जाने के बाद मुस्लिमों ने 'मंदिर बनाओ' अभियान शुरू किया है, लेकिन 1992 में बाबरी मस्जिद विध्वंस के बाद कितने हिन्दुओं ने भारत में 'मस्जिद बनाओ' अभियान शुरू किया।

और सच क्या है?

  • इस पोस्ट की सच्चाई जानने के लिए हमनें वायरल हो रहीं फोटोज को गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च किया। हमें इससे जुड़ी एक मीडिया रिपोर्ट मिली।
  • मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, यह तस्वीर जुलाई, 2020 की है। इस्लामाबाद में 8 जुलाई, 2020 को कुछ लोगों ने हिन्दू मंदिर बनाने के लिए एक रैली की थी, सभी तस्वीरें उसी समय की हैं।
इस्लामाबाद में 8 जुलाई, 2020 को हुए विरोध प्रदर्शन की तस्वीर को हाल का बताकर वायरल किया जा रहा है।
  • पोस्ट में हिन्दू मंदिर बनवाने की बात की तो जा रही है, लेकिन इसका कनेक्शन 30 दिसम्बर को खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में मंदिर तोड़ने की घटना से नहीं है। इसलिए यह दावा झूठा है।


आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
Mandir Banao campaign stared in Pakistan know the truth


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3pJpgL2
https://ift.tt/3bcHHDZ
Previous Post Next Post