आनंद-पंचांग / नववर्ष के अवसर पर जानें कि भगवान गणेश के जीवन में युवाओं के लिए क्या अद्भुत संदेश निहित हैं

नवान्न / कैलेंडर बनाने वालों ने जब कभी साल का बदलना तय किया तो वह इंसान के लिए खुशी का मौका बन गया। लेकिन कहने वाले तो ये भी कहते हैं कि कैलेंडर यानी साल बदलने से आखिर बदलता क्या है?

कविताएं / नया साल नई उमंग, नया जोश और एक नया ही माहौल लेकर हाजिर होता है। ये कविताएं नए साल को समर्पित हैं...

अंतचर्क्षु / दृष्टिहीन मनुष्यों के लिए ज्ञान का द्वार खोलने वाले लुई ब्रेल के सम्मान में हर वर्ष 4 जनवरी को विश्व ब्रेल दिवस मनाया जाता है। यह लेख उन्हीं लुई ब्रेल को आदरांजलि है...

देशराग / स्वामी विवेकानंद भारत की चिर तरुणाई के प्रतीक ही थे।जब उन्होंने शिकागो की धर्म संसद में भारतीयता का उद्‌घोष किया, तब भी उनकी अवस्था तीस वर्ष की ही थी और अल्पायु में ही उनका देहांत हो गया...

स्वर्ण-दृष्टि / आने वाला कल भविष्य है। उसे डर के काले चश्मे से न देखें। विश्वास करें कि आगामी कल अद्‌भुत ही होगा...



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
Aha! Read selected stories of the January issue of life with just one click


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3s61R8Q
https://ift.tt/2XjlHz0
Previous Post Next Post